रिश्ते दार 🎩

तुमने मुझसे पूछा आज
क्या होता है रिश्ता ?
किसको कहते रिश्तेदार ?
दिल से दिल की बात हुई जब,
तब रिश्ते बन जाते हैं।
इन रिश्तों को तोड़ें जो
वो रिश्तेदार कहलाते हैं।

*(यहां कविता में रक्त सम्बन्धी रिश्ते के बारे में चर्चा नहीं है।यहां समाज में रिश्तों की दारी(रौब) जो दिखाते हैं । )

Published by (Mrs.)Tara Pant

बहुत भाग्यशाली थी जिस स्नेहिल परिवार में मेरा जन्म हुआ। education _B.Sc. M.A.M.ed.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: