“चाय वाला वो बच्चा।”🚶🏃

आज फिर उसकी याद आ गई।वैसे तो सड़क के सफर में अक्सर सड़क -किनारे वाली चाय पीना पसन्द करती हूँ। अधिकतर एक बड़े से हरे भरे पेड़ के नीचे उनका चार पहिये पर ठेला आकर्षित करता है और यहां पेड़ की हवा एक रेस्तरां के एसी से कहीं अधिक लुभावनी होती है और बहुत प्यारContinue reading ““चाय वाला वो बच्चा।”🚶🏃”

समय अच्छा चल रहा है।🙏🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉

इस locked down में आज ना जाने क्यों तरुण सागर दिगंबर महाराज जी की याद आ गई। वैसे तो किसी विशेष गुरु की भक्त नहीं हो पाई परंतु कृपालुजी महाराज के वेदों की स्मरण शक्ति एवं तरुण सागर जी के प्रवचन बिना पूरा सुने अधूरा सा लगता। कभी कभी तरुण सागर जी का चेतावनी देतेContinue reading “समय अच्छा चल रहा है।🙏🎉🎉🎉🎉🎉🎉🎉”

कभी दिल से 💕

कभी स्वयं की बात करो तुम।कभी तो अपना मुँह खोलो।कब तक बातें गैरों की होंगी ?कभी स्वयं की भी बोलो।बहुत सुना है मन की तुमसेबहुत कह दिया मन की हमसे। अब तो दिल से बात करो तुम।अब थोड़ा दिल को खोलो ।मन्दिर मस्ज़िद बहुत हो गयाअब विद्यालय भी खोलो ।जो भूखे सोते हैं घर मेंउनकेContinue reading “कभी दिल से 💕”

राहत इंदौरी जी अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि।💔🙏🌼🌼🌼

मन बहुत दुखी है । आज सुना राहत इंदौरी साहब नहीं रहे ।मेरे जन्माष्ठमी के त्योहार का उत्साह गमगीन सा हुआ ।राहत जी के दिल और मन की बात सुनना बहुत अच्छा लगता है।….फूलों की दुकान खोलो, खुशबू का व्यापार करो,इश्क़ खता है तो ये खता सौ बार करो। ….लगेगी आग तो आएंगे कई मकानContinue reading “राहत इंदौरी जी अश्रुपूर्ण श्रद्धांजलि।💔🙏🌼🌼🌼”

Nominated for Liebster Award….

Tara Pant. Thank you so much dear Anushree Shrivastav for nominating me for this award. It really means a lot to me. Anushree….really you are blessed with an impressive pen. I read your each and every post on blog and feel the pleasure of the mission -save your daughter and educate her’ (‘बेटी बचाओ बेटीContinue reading “Nominated for Liebster Award….”

राम धुन।🙏

रघुपति राघव राजाराम।पतित पावन सीता राम।।सीता राम सीता राम।भज प्यारे तू सीता राम।।ईश्वर अल्लाह तेरे नाम।सबको सन्मति दे भगवान।रघुपति राघव राजा राम ।पतित पावन सीता राम।। संदर्भ: यह भजन हमारे राष्ट्र पिता महात्मा गांधी को बहुत पसंद था। यह भजन हिंदुओं के धार्मिक ग्रंथ ‘गीता’ में दिए भजन से कुछ अलग था जिसमें गाँधीजी नेContinue reading “राम धुन।🙏”

शुभ राखी 💕💝,🎉🔔🔔🔔

भाव तुम्हारे पाकर पहुँची,इस दुनिया के पार।जहाँ तुम्हारी गरिमा थीऔर आनन्द था अपार।ये छोटे छोटे से सुख,जाने क्या कर जाते।दुनिया के सारे दुख जैसेछूमन्तर हो जाते।इन भावों में सच मानो तुम,ईश्वर का सुख पाती हूँ।मन्दिर के घण्टों की गूँज ये,मैं नतमस्तक हो जाती हूँ।✍️ Theme of the poem:I reached across the world with my sentimentsContinue reading “शुभ राखी 💕💝,🎉🔔🔔🔔”

आज ।

संग मेरे आकर के बैठा ,सहमा सहमा “आज”।कभी सिसकता कभी सुबकता मुझसे बोला, “आज”मंदिर मस्जिद होटल ढाबेमें, रुदन रोज करता हूँ ,पर बहरों के कानों में चिल्लाकर रोया आज” ।इधर उधर स्वर गूंज रहा है ,“ईद मुबारक” आज ।“दर्द भी उसका खुल के रोया कहता मुझसे “आज।”✍️