उसका भय ।😲😒

आज facebook में उसे देखा युवा हो गया है । नाम पढ़ते ही वो बच्चा याद आया।सीधा-सादा भोला -भाला सा वो महा राष्ट्रीयन बच्चा । मैं क्लास टीचर थी उसकी । एक कमजोरी थी मुझमें मेरे क्लास के बच्चों को कोई पिटाई लगाता तो जाने क्यों उस टीचर से पिटाई का कारण पूछने पहुँच जाती।उसContinue reading “उसका भय ।😲😒”

खेल में रेलमपेल ।😀😀😀

राजनीति का खेल ।देखो राजनीति का खेल।। नेता के भाषण से,जनताअंध भक्त बन जाती।रूखी सूखी खाकर भीनेता के गुण है गाती ।हाय कितना महंगा हो गयाडीजल पेट्रोल तेल। राजनीति का खेल ।देखो राजनीति का खेल।। क्या शिक्षा क्या स्वास्थ्य,सभी हैं पीछे छूट जाते ।थोड़ी सी विपदा में सारे,अस्पताल भर जाते ।इस भीड़ में फँस गएContinue reading “खेल में रेलमपेल ।😀😀😀”

मन की ।🎈🎈🎈

मन तू मौन नहीं रहता है ।कितना भी चाहूँ मैं,तू अपनी ही कहता है ।इधर उधर डोले है,जो मन आये बोले है ।औरों की भी, तो … सुन ।तू क्यों नहीं सुनता है ?मन तू मौन नहीं रहता हैं ? कुछ ठान लिए बैठा है ।कुछ मान लिए बैठा है ।इतनी भी मनमानी कैसी ?Continue reading “मन की ।🎈🎈🎈”

कक्का और बाँसुरी- धुन।🙏

आज कृष्ण जन्माष्टमी है । घर में जन्माष्टमी की खूब सजावट और भक्तिमय धूम रहती । रात को मेहंदी भी लगाई जाती । शायद यहां भी नाम का असर था , चक्रधर और राधा ,हमारी मां और पिताजी का नाम । 🙏लगता है घर के एक शांत व्यक्तिव का नाम भी , कृष्ण के नामContinue reading “कक्का और बाँसुरी- धुन।🙏”

चांद सा ।🌙

वो सबसे जुदा था ,जो खुद पे फिदा था ।खुदी में ही उसकेउसका खुदा था । स्वयं एक रौनक था,ऋषि जैसे शौनक था।वो करता मनमानी था,मगर एक ज्ञानी था। जहाँ भी वो जाता था,मौसम ले आता था ।गरम हवाओं में ,बादल सा छाता था । वो जब भी गाता था,मन को लुभाता था ।रोता हुआContinue reading “चांद सा ।🌙”

दीदी जीजा जी । 💔😪

वो खिलखिलातीतो वो थे मुस्काते।जरा भी नज़र थेन उस से हटाते।वो पल कैसे बीतेजो थे इतने मीठे।वो उसके दीवाने थे,थी वो भी दीवानी।सच मानो सच्ची थीउसकी कहानी।जब से गई दूरउसकी वो छायावो भी है गुम सुमहै कंकाल काया ।पल भर की छायाजीवन की माया ।ये लम्हे जो देखे,मुझे याद आया…मुझे याद आया….। ✍️

मिल जाओ ना सब ।🇮🇳💖🙏

चाहे बोलो ईश्वर अल्लाहचाहे बोलो रब,मानव-धर्म बड़ा है सबसे,मिल नाओ ना सब। मैं हिन्दू तू मुस्लिम कह कर,कब तक बाँटे जाओगे ?टूट टूट कर बच्चों को कल,कौन सा पाठ पढ़ाओगे ? इस मानव -धर्म में देखोसबकी एक ही आशा ।दुख -सुख हंसना- रोना सबकी,देखो एक ही भाषा। ऊपर वाले को ही कहते,ईश,अल्लाह और रब।मानव धर्मContinue reading “मिल जाओ ना सब ।🇮🇳💖🙏”

चश्मा ।💖

जबसे है मेरा , चश्मा टूटा ,हर शब्द ये मुझसे, है रूठा ।कहता है ले अब तू ढूंढ मुझे,आंखों पर जो इतना गर्व तुझे।तूने शब्दों को कई बार ,आंखों से ही बस जोड़ा है ।आंखों का करके है बखान ,चश्मे को क्यूँ कर छोड़ा है। दो दिन वो जो तुझसे दूर हुआ ,ओह तू कितनाContinue reading “चश्मा ।💖”

क्यूँ इतना छोटा कर डाला ।😪💝

हे ईश्वर क्यों है यहां भरमसीमाओं में बांध तुझे,क्यों इतना छोटा कर डाला।विश्व व्याप्त तेरी शक्ति कोइसका -उसका कर डाला। मेरी गीता के समक्ष,उसकी कुरान झूठी लगती ।उसके अल्लाह के आगे ,भगवान भक्ति झूठी लगती।मानव के इस झूठे प्रपंच ने,मानव का कत्ल ही कर डाला। हे ईश्वर भ्रमित हुए मानव ने,तुझे कितना छोटा कर डाला।Continue reading “क्यूँ इतना छोटा कर डाला ।😪💝”

आनंद ।🕉️🌈🎉🎈💖

जब साथ न दे ये तन,घबराए मन,ध्यान लगा उसकाऔर बैठ संग आनंद के । जब दिल टूटे,कोई अपना छूटे,अपने से हीहो जाए अन-बन ।तब मन में रमा उसकोऔर बैठ संग आनंद के। जब यादों के बादल छाएँ,बीते हुए क्षण से,मिल ना पाएं।तब यादों का संग्रह करऔर बैठ संग आनंद के। जब घर के आँगन,खुशियां आएंContinue reading “आनंद ।🕉️🌈🎉🎈💖”